Category Archive : मनोरंजन

Holi 2024: उत्तराखंड में यहां भक्तों ने खेली भस्म की होली, जयकारों से गूंजी भोलेनाथ की नगरी, देखें तस्वीरें

59 Views -

Holi: आस्था और पर्यटन का संगम कही जाने वाली बाबा भोलेनाथ की नगरी उत्तरकाशी होली के रंग में रंग चुकी है। उत्तरकाशी में आज छोटी होली की सुबह बाबा काशी विश्वनाथ मंदिर में भस्म की होली के साथ होली के त्योहार का शुभारंभ हुआ।

उत्तरकाशी में बाबा काशी विश्वनाथ प्रांगण से भस्म की होली के साथ पूरे जनपद में होली शुरू होती है। रविवार सुबह भोलेनाथ के भक्त मंदिर में एकत्रित हुए। जहां मंदिर के महंत अजय पुरी ने पहले स्वयंभू शिवलिंग पर भस्म लगाकर उनका आशीर्वाद लिया। उसके बाद सभी भक्तों पर भस्म लगाकर होली शुरू हुई।

सभी भक्तों ने आपस में भस्म लगाकर एक दूसरे को होली की शुभकामनाएं दी। उसके बाद बाबा काशी विश्वनाथ मंडली की और से होली और बसंत के गीत गाए गए। वहीं, भस्म लगाकर शिव भक्त जमकर झूमे।
महंत अजय पुरी ने बताया कि जहां आज के समय में रसायनिक होली का प्रचलन बढ़ गया है। ऐसे समय में भोलेनाथ के दरबार से भस्म की होली खेलकर यह संदेश दिया जा रहा है कि हम रसायनिक रंग छोड़ प्राकृतिक रंगो का प्रयोग करें।
भस्म होली के बाद मंदिर में प्रसाद वितरण का कार्यक्रम का आयोजन किया गया। वहीं इस मौके पर देश के विभिन्न प्रदेशो से आए श्रद्धालु भी भस्म होली के गवाह बने। कहा कि उत्तरकाशी कलयुग की काशी कही जाती है।
कलयुग में बाबा काशी विश्वनाथ अस्सी वरुणा नदी के बीच वरुणावत पर्वत की तलहटी में निवास करेंगे। वहीं, भस्म होली के गवाह बने दिल्ली के पर्यटकों का कहना है कि उन्होंने भस्म की होली पहली बार देखी है। यह उनके जीवन का अनमोल अनुभव है। उन्होंने बाबा काशी विश्वनाथ से देश मे खुशहाली की कामना की।

भारत-मालदीव में विवाद जारी, नई दिल्ली ने राजदूत को किया तलब, जानिए कहां से शुरू हुआ विवाद.

55 Views -
 
India-Maldives Relations: भारत-मालदीव के बीच राजनयिक विवाद सोमवार (8 जनवरी) को भी जारी रहा. इस बीच मालदीव के राजदूत को भारत ने तलब किया. वहीं सोशल मीडिया पर इस समय लक्षद्वीप बनाम मालदीव की एक जंग छिड़ी हुई है। पीएम नरेंद्र मोदी की लक्षद्वीप की यात्रा के बाद ये बहस शुरू हुई है। पीएम की इस यात्रा से अटकलें लगाई कि मालदीव के पेंच कसने के लिए भारत अपने द्वीपों में पर्यटन को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहा है। पीएम मोदी के दौरे के बाद से लक्षद्वीप गूगल सर्च इंजन पर सबसे ज्यादा सर्च किया जाने वाला कीवर्ड रहा है। शुक्रवार को, 50,000 से अधिक लोगों ने केंद्र शासित प्रदेश को गूगल पर देखा, इसकी वजह ये पीएम की पोस्ट भी रही, जिसमें उन्होंने इस जगह की आश्चर्यजनक सुंदरता और वहां के लोगों की गर्मजोशी के बारे में लिखा।
 
नरेंद्र मोदी के लक्षद्वीप दौरे के बाद सोशल मीडिया पर आग भड़काने का काम मालदीव की सत्ताधारी पार्टी के नेताओं के ट्वीट ने किया। इन ट्वीट में नरेंद्र मोदी का मजाक उड़ाया गया तो भारतीयों को गंदा कहते हुए नस्लीय टिप्पणियां की गईं। इसमें जाहिर रमीज और मरियम शिउना खासतौर से अपने कमेंट के चलचते सोशल मीडिया पर भारतीयों के निशाने पर आए। इसी का नतीजा था कि सोशल मीडिया पर रविवार को बायकॉट मालदीव ट्रेंड करने लगा।
1. भारतीय विदेश मंत्रालय ने मालदीव के राजदूत को सोमवार को तलब किया. मालशा शरीफ, मरियम शिउना और अब्दुल्ला महज़ूम माजिद की पीएम मोदी के खिलाफ की गई टिप्पणी को लेकर कड़ी चिंता व्यक्त की. तीनों मंत्रियों को निलंबित किया जा चुका है.

2.  मालदीव की सरकार ने भारतीय उच्चायुक्त मुनु मुहावर को कहा कि उसके निलंबित किये जा चुके तीन उप मंत्रियों की पीएम मोदी के खिलाफ दिए गए अपमानजनक बयान सरकार के रुख को प्रदर्शित नहीं करते. द सन ऑनलाइन’ की रिपोर्ट के मुताबिक मालदीव के एक शीर्ष सरकारी अधिकारी ने कहा कि बैठक में नसीर ने पड़ोसियों के लिए मालदीव का सतत समर्थन दोहराया. भारतीय उच्चायोग ने सोशल मीडिया मंच एक्स पर बताया कि विदेश मंत्रालय में डॉ अली नसीर मोहम्मद के साथ द्विपक्षीय मुद्दों पर चर्चा करने के लिए भारतीय उच्चायुक्त की बैठक पहले से तय थी.

3. पीएम मोदी पर मालदीव के मंत्रियों की टिप्पणी पर लक्षद्वीप के लोकसभा सांसद मोहम्मद फैजल ने कहा कि कुछ भी बोलने से पहले दो बार सोचें. फैजल ने पीटीआई से बात करते हुए कहा, ‘‘माननीय प्रधानमंत्री की लक्षद्वीप के पर्यटन को लेकर की गई टिप्पणी पूरी तरह से भारत का आंतरिक मामला था. मालदीव के उप मंत्रियों की गई टिप्पणी अवांछित और बेतुकी थीं. ’’

4.  मालशा शरीफ, मरियम शिउना और अब्दुल्ला महज़ूम माजिद ने पीएम मोदी के लक्षद्वीप की फोटो शेयर करने को लेकर टिप्पणी की थी. तीनों ने कहा था कि पीएम मोदी ऐसा लक्षद्वीप को मालदीव के वैकल्पिक पर्यटन स्थल के रूप में पेश करने की एक कोशिश करने के लिए कर रहे हैं.

5. भारत से विवाद के बीच मालदीव के राष्ट्रपति मोहम्मद मुइज्जू चीन की राजकीय यात्रा पर गए हैं. यहां मुइज्जू राष्ट्रपति शी चिनफिंग से द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने पर चर्चा करेंगे. मोहम्मद मुइज्जू को चीन का करीबी माना जाता है.

6. कांग्रेस ने कहा कि मालदीव और चीन के रिश्ते भारत के लिए चिंता की बात है. कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा, ” मालदीव हमेशा भारत को चीन के ऊपर तरजीह देता रहा है. अब, लेकिन मालदीव को चीन को प्राथमिकता दे रहा है.”

7. विवाद के बीच ईज़माईट्रिप ने मालदीव के लिए सभी फ्लाइट बुकिंग पर रोक लगा दी है.  ईज़माईट्रिप के सीईओ निशांत पिट्टी ने सोशल मीडिया मंच ‘एक्स’ पर कहा, “लक्षद्वीप का पानी और बीच (समुद्र तट) मालद्वीव/सेशल्स जैसे ही अच्छे हैं. हम ईज़माईट्रिप पर इस बेहद खूबसूरत पर्यटन स्थल को बढ़ावा देने के लिए खास पेशकश लेकर आएंगे जहां हमारे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी हाल में गए थे.”

8. टूर ऑपरेटरों के संगठन इंडियन एसोसिएशन ऑफ टूर ऑपरेटर्स (आईएटीओ) ने कहा कि मालदीव की यात्रा के लिए कोई नई पूछताछ की नहीं जा रही. आईएटीओ के अध्यक्ष राजीव मेहरा ने कहा, ”भारतीय पर्यटकों की ओर से मालदीव के लिए कोई नई पूछताछ नहीं आ रही है.”

9. मालदीव की यात्रा करने वालों में पूरी दुनिया में भारत के लोग सबसे ज्यादा है. मालदीव के पर्यटन मंत्रालय के मुताबिक, 2023 में 2.03 लाख से अधिक भारतीयों ने मालदीव की यात्रा की.

10. पीएम मोदी लक्षद्वीप कई परियोजनाओं का उद्घाटन करने के लिए हाल ही में गए थे. इसके बाद उन्होंने सोशल मीडिया एक्स पर फोटो शेयर कर बताया था कि उन्होंने यात्रा के दौरान स्नॉर्कलिंग का लुत्फ उठाया.  उन्होंने लिखा, ‘‘जो लोग रोमांचकारी अनुभव लेना चाहते हैं, लक्षद्वीप उनकी लिस्ट में जरूर होना चाहिए.’’

Uttarakhand Weather: नए साल पर जानिए मौसम का हाल, उत्तराखंड में घने कोहरे को लेकर ऑरेंज और येलो अलर्ट जारी.

234 Views -

उत्तराखंड में मौसम का मिजाज अचानक बदलने से लोगों को परेशानी होने लगी है। उत्तराखंड के कई जिलों में सुबह ही धूप खिली तो कई कोहरा छाने से अचानक ठंड बढ़ गई। आज हल्द्वानी, रुद्रपुर, रामनगर, बाजपुर में सुबह से ही घना कोहरा छाया हुआ हैं। वहीं, चंपावत, नैनीताल, अल्मोड़ा, बागेश्वर और पिथौरागढ़ में धूप खिली हुई हैं।  मौसम जानकारों के अनुसार, हल्की धूप के साथ अगले एक हफ्ते तक घना कोहरा छाए रहने की संभावना है। वहीं राज्य मौसम विज्ञान केंद्र ने मैदानी इलाकों में घने कोहरे को लेकर आरेंज और यलो अलर्ट जारी कर दिया है।

शुक्रवार को हल्द्वानी में सर्दी का पहला घना कोहरा छाने से अचानक ठंड बढ़ गई। अंधेरा होने के बाद कोहरा लगातार घना होता गया। 20 मीटर दृश्यता और 85 प्रतिशत आर्दता मापी गई।

मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार उत्तरकाशी, चमोली और पिथौरागढ़ आदि पर्वतीय जिलों में  हल्की से हल्की बारिश और बर्फबारी की भी संभावना है। शुक्रवार को अधिकतम तापमान 20 और न्यूनतम 9.4 डिग्री सेल्सियस रहा। वहीं मुक्तेश्वर का 13 और न्यूनतम 4.1 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया।

पंतनगर कृषि विवि के मौसम जानकार डॉ. आरके सिंह के अनुसार एक हफ्ते तकघना कोहरा छाया रहने की संभावना है। इधर बारिश नहीं होने से पर्वतीय जिलों में मौसमी फसल पर भी संकट के बादल मंडरा रहे हैं। मुख्य कृषि अधिकारी विकेश यादव ने बताया कि असिंचित क्षेत्रों में फसलों को नुकसान होने की संभावना है। इससे गेहूं, दलहन, तिलहन की फसल के उत्पादन पर असर पड़ सकता है। दिसंबर में औसतन चार से पांच एमएम ही बारिश हुई है जो नाकाफी है।

कुमाऊं मंडल में देखा जाए तो 172183 हेक्टेयर में गेहूं, 20598 हेक्टेयर में दलहन और 6788 हेक्टेयर में तिलहन का उत्पादन होता है। संयुक्त निदेशक  कृषि कुमाऊं मंडल पीके सिंह ने बताया कि शुक्रवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से मंडल के सभी कृषि अधिकारियों को अलर्ट मोड पर रहने के निर्देश दिए गए हैं। हालांकि उन्होंने बताया कि अभी तक नुकसान की सूचना नहीं है। पहाड़ों में ठंड की वजह से अभी खेतों में नमी बनी हुई है

कोहरे में इन बातों का ध्यान रखें-
कोहरा शुरू हो गया ऐसे में वाहन चलाने में समस्या आती और दुर्घटना का खतरा बढ़ जाता है। प्रभारी एआरटीओ प्रमोद चौधरी कहते हैं कि कुछ बातों का ध्यान रखें तो दिक्कत से बचा जा सकता है।
  • कोहरे में बेहद अपरिहार्य स्थिति में वाहन चलाएं
  • इंडिकेटर और पार्किंग लाइट को ऑन रखें
  • सड़क के किनाए बाएं वाहन पार्क होते हैं, इस तरफ भी ध्यान रखें
  • अगर वाहन में कोई तकनीकी दिक्कत आ गई है तो चौपहिया वाहन में एक त्रिभुजाकार
  • रिफलेक्टर होता है, उसको वाहन से पीछे की तरफ 20 मीटर रखें, जिससे दूसरे वाहन स्वामी को पता रहे
  • वाहन पर रेडियम पट्टी भी लगाना चाहिए।
कोहरे के कारण बस और ट्रेन हुईं लेट-

मौसम में घने कोहरे के छाने से आम जीवन काफी प्रभावित हो रहा है। इसका मुख्य असर यातायात पर आ रहा है। शुक्रवार को भी बस और ट्रेन अपने स्टेशन पर निर्धारित समय से लेट से पहुंचे। इसके चलते यात्रियों को ठंड में ठिठुरते हुए अपने रूट की गाड़ी का इंतजार करना पड़ा। इस कारण यात्रियों को काफी परेशानी उठानी पड़ी।

कोहरे के कारण को दिल्ली से काठगोदाम को आने वाली रानीखेत एक्सप्रेस और हावड़ा से काठगोदाम तक संचालित होने वाली बाघ एक्सप्रेस ट्रेन अपने निर्धारित समय से एक घंटा देरी से स्टेशन पहुंची। दोनो ट्रेनों के अपने देरी से पहुंचने पर यात्रियों को काफी परेशानी हुई। इधर रोडवेज की भी कुछ ऐसी ही स्थिती रही। यहां भी कोहरे के चलते दिल्ली और पंजाब रूट की बसें एक घंटे देरी से पहुंची। यूपी और पंजाब के मैदानी जिलों में कोहरे के कारण बुरा हाल है। इससे बसे अपने निर्धारित स्टेशन में देरी से पहुंच रही हैं।

world cup 2023: वो जादूगर जिसने टीम इंडिया के खिलाड़ियों को बना दिया स्पाइडरमैन.

1,056 Views -

क्या इस बार भी बॉक्स ऑफिस पर फ्लॉप होगी कंगना की फिल्म ‘तेजस’ ? जाने कैसा रहा फर्स्ट डे कलेक्शन.

126 Views -
बॉलीवुड जगत की प्रसिद्ध अभिनेत्री कंगना रनौत अपने अभिनय के दम पर अपना एक अलग मुकाम बना चुकी है। अपनी अदाकारी से सबके दिलो में राज़ करने वाली बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत की अगली फिल्म का फैंस बेसब्री से इंतज़ार कर रहे थे। इसी बीच बहुचर्चित फिल्म ‘तेजस’ इस शुक्रवार देशभर के सिनेमाघरों में रिलीज हो गई है।

‘तेजस’ के पहले दिन बॉक्स ऑफिस कलेक्शन के ताजा आंकड़े सामने आ गए हैं। ऐसे में आइए जानते हैं कि रिलीज के पहले दिन कंगना रनौत की ‘तेजस’ को कैसी शुरुआत मिली है।

 

 

र्वेश मेवाड़ा के निर्देशन में बनी ‘तेजस’ का ट्रेलर जैसे ही रिलीज़ किया गया फैन्स को इस फिल्म से काफी उम्मीदें होने लगी खुद अभिनेत्री कंगना रनौत ने कहा की उनकी पिछली फिल्मों के मुकाबले यह फिल्म उनके लिए बेहद खास है। इस फिल्म में वह एक एयरफोर्स पायलट तेजस गिल की भूमिका अदा कर रही है।

ओपनिंग डे पर ‘तेजस’ की इतनी कमाई

फिल्म ‘तेजस’ के ट्रेलर को देखने के बाद हर कोई इस फिल्म से काफी उम्मीदें लगाए बैठा है। पिछली फिल्मों की तुलना में फिल्म ‘तेजस’ कंगना रनोट के लिए भी बेहद खास फिल्म है। सर्वेश मेवाड़ा के निर्देशन में बनी ‘तेजस’ में कंगना ने एयरफोर्स पायलट तेजस गिल की भूमिका अदा की है।

ऐसे में बॉक्स ऑफिस पर ओपनिंग डे के मौके पर तेजस गिल ने कैसा कमाल दिखाया गया है, उसका अंदाजा कलेक्शन के इन लेटेस्ट आंकड़ों से लगा सकते हैं। सैकनिल्क के अर्ली ट्रेड के अनुसार कंगना रनोट की ‘तेजस’ ने रिलीज के पहले दिन करीब 1.25 करोड़ का बॉक्स ऑफिस कलेक्शन किया है। हालांकि कमाई के ये आंकड़े पूर्वानुमान हैं।

‘तेजस’ का मुकाबला इन फिल्मों से

वही दूसरी ओर बॉक्स ऑफिस पर आज सिर्फ ‘तेजस’ अकेले रिलीज नहीं हुई है। कंगना रनोट की इस मूवी के अलावा बॉलीवुड एक्टर विक्रांत मैसी की पॉपुलर फिल्म ’12th फेल’ (12th Fail) और हिंदी सिनेमा की मशहूर एक्ट्रेस निमृत कौर की ‘सजनी शिंदे का वायरल वीडियो’ जैसी फिल्म भी सिनेमाघरों में रिलीज हुई है। उस हिसाब से कहीं न कहीं ‘तेजस’ के बॉक्स ऑफिस पर प्रभाव पड़ता दिखा है।

 

अब कैसे भारतीय बने ये अभिनेता, अक्षय कुमार के पास अभी तक क्यों थी किसी और देश की नागरिकता… जाने पूरा मामला

34 Views -

अभिनेता अक्षय कुमार ने आज सोशल मीडिया पोस्ट साझा कर उन्होंने ये जानकारी दी कि उन्हें भारत की नागरिकता मिल गई है। अब तक अक्षय के पास कनाडा की नागरिकता थी।अभिनेता अक्षय कुमार को नागरिकता अधिनियम, 1955 की धारा 5(1)(जी) के तहत भारतीय नागरिकता दी गई है।

स्वतंत्रता दिवस के खास मौके पर अभिनेता अक्षय कुमार ने अपने प्रशंसकों को एक खुशखबरी दी। दरअसल, अक्षय कुमार को भारतीय नागरिकता मिल गई है। उन्होंने सोशल मीडिया पोस्ट साझा कर खुद ये जानकारी साझा की है। चलिए आपको बताते हैं की अक्षय को नागरिकता किस नियम के तहत मिली?

बेहद खुश हूँ-


अभिनेता अक्षय कुमार ने मंगलवार को सोशल मीडिया पोस्ट साझा कर ये जानकारी सांझा की उन्होंने कहा कि उन्हें भारत की नागरिकता मिल गई है। अब तक अक्षय कुमार के पास कनाडा की ही नागरिकता थी। अब वो वापस भारत की नागरिकता पाकर बेहद खुश हैं। एक्टर ने नागरिकता दस्तावेज की एक फोटो भी साझा की है। इसके साथ उन्होंने लिखा है, ‘दिल और सिटीजनशिप दोनों हिंदुस्तानी। स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं। जय हिंद।’

अक्षय कुमार को भारत सरकार के अधीन गृह मंत्रालय द्वारा पंजीकरण प्रमाण पत्र दिया गया है। दस्तावेज के मुताबिक, अभिनेता को नागरिकता अधिनियम, 1955 की धारा 5(1)(जी) के तहत भारतीय नागरिकता दी गई है।

 
नागरिकता अधिनियम, 1955 की धारा 5(1)(जी) क्या है- 


नागरिकता अधिनियम, 1955 की धारा 5(1)(जी) उन व्यक्तियों की नागरिकता का उल्लेख करती है जो की 5 साल से भारत के विदेशी नागरिक (ओवरसीज इंडियन सिटीजन) के रूप में पंजीकृत है। इसके साथ ही वो व्यक्ति भारतीय नागरिकता के लिए आवेदन करने से ठीक पहले एक साल तक भारत में रहा हो और एक साल की इस अवधि से ठीक पहले के आठ वर्षों के दौरान कम से कम छह साल तक भारत में रहा हो।

क्या-क्या दस्तावेज हैं जरुरी- 


ओवरसीज इंडियन को नागरिकता पाने के लिए कुछ अहम दस्तावेजों को अपलोड करना होता है। ये कागजात हैं वैध विदेशी पासपोर्ट की एक प्रति और धारा 7ए के तहत भारत के विदेशी नागरिक के रूप में पंजीकरण प्रमाण पत्र की एक प्रति।

कौन होते हैं ओवरसीज इंडियन?


देश की संसद ने साल 2003 में नागरिकता संशोधन विधेयक पारित कर विदेशों में बसे भारतीय मूल के लोगों को भारत की नागरिकता प्रदान करने का प्रावधान किया है। इसे ओवरसीज सिटीजनशिप ऑफ इंडिया के नाम दिया गया है। इसके अनुसार, भारतीय मूल का कोई भी व्यक्ति जो संविधान लागू होने के बाद भारत या उसके किसी राज्य क्षेत्र का नागरिक रहा हो और जिसने पाकिस्तान और बांग्लादेश के अलावा किसी अन्य देश की नागरिकता ग्रहण कर ली है, नागरिकता अधिनियम 1955 के अधीन पंजीकरण करा सकता है। यदि उसके देश में दोहरी नागरिकता का प्रावधान है।

पंजीकरण के बाद अगर व्यक्ति पांच साल में से एक साल भारत में रहता है तो उसे भारत की नागरिकता मिल सकती है। वर्तमान में अमेरिका, ब्रिटेन, कनाडा, फ्रांस, ऑस्ट्रेलिया सहित 16 देशों में बसे भारतीय मूल के लोगों को दोहरी नागरिकता प्रदान की जा सकती है। क्योंकि, इन देशों के नागरिक दोहरी नागरिकता ले सकते हैं।

इन अभिनेता ने क्यों ली थी कनाडा की नागरिकता-


अक्षय कुमार ने वर्ष 2019 में कनाडा का पासपोर्ट रद्द करवाने और भारतीय पासपोर्ट फिर से हासिल करने की प्रक्रिया शुरू की थी।एक इंटरव्यू के दौरान अपनी नागरिकता पर बात करते हुए अक्षय कुमार ने कहा था कि मेरे लिए भारत सब कुछ है। मैंने जो कुछ भी हासिल किया है वो यही से किया है। मैं सौभाग्यशाली हूं कि मुझे देश के लिए कुछ करने का मौका मिला। अक्षय ने इस दौरान बताया था कि एक समय पर उनकी 15 से ज्यादा फिल्में फ्लॉप हो गई थीं, यही वो वजह थी जिसने उन्हें कनाडा की नागरिकता लेने के लिए प्रेरित किया था।

क्या कहा अभिनेता अक्षय कुमार ने-


अक्षय ने कहा था, ‘मैंने सोचा कि मेरी फिल्में नहीं चल रही हैं। मैं वहां काम के लिए गया था। मेरा दोस्त कनाडा में था और उसने कहा कि यहां आओ। जिसके बाद मैंने आवेदन कर दिया और मुझे नागरिकता मिल गई। मेरी बस दो फिल्में रिलीज होनी बाकी थी। किस्मत से दोनों ही सुपरहिट हो गईं। मेरे दोस्त ने कहा कि वापस जाओ और फिर से काम करना शुरू करो। इसके बाद मुझे काम मिलता चला गया। मैं भूल गया कि मेरे पास कनाडा का पासपोर्ट है। इस पासपोर्ट को बदलवाने का विचार कभी नहीं आया, लेकिन अब मैंने अपना पासपोर्ट बदलवाने के लिए आवेदन कर दिया है।’

सन्नी पाजी की ‘गदर 2’ ने मचाया गदर, लोगों में ऐसा क्रेज आज तक नहीं देखा होगा…

46 Views -
 

सिनेमाघरों में पिछले कुछ सालों से मंदी का दौर चल रहा था। दर्शकों की संख्या कम थी। लेकिन गदर 2 ने आते की गदर मचा दिया। पहले शो के लिए सुबह आठ बजे से सिनेमाघरों में दर्शकों की लाइन लगने लगी है। हिंदुस्तान जिंदाबाद था, जिंदाबाद है और जिंदाबाद रहेगा। सनी देओल के इस डायलॉग को लोग 22 साल बाद भी नहीं भूले हैं। 22 साल बाद फिर से बड़े पर्दे पर गदर मचाने आए सनी देओल ने अपने दर्शकों को निराश नहीं किया है। गदर में हैंडपंप उखाड़ने वाले सनी देओल गदर 2 में भी पाकिस्तान जाकर कुछ उखाड़ते हैं, जो फिल्म देखने पर ही पता चलेगा। दर्शक टिकट बुक कराने के लिए बेताब थे। सिनेमाघर मालिक दर्शकों के उत्साह से काफी खुश थे। लंबे समय बाद किसी फिल्म के लिए इतनी बेसब्री दर्शकों ने दिखाई है। गदर में तारा सिंह अपनी सकीना को बचाने पाकिस्तान गए थे तो इस फिल्म में वो अपने बेटे जीते को लेने जाएंगे। फिल्म में नाना पाटेकर की आवाज में पहली फिल्म की कहानी भी सुनाई देती है। बेटे के रूप में उत्कर्ष शर्मा के काम को पसंद किया जा रहा है।

 छोटे-छोटे थिएटर भी फुल- 

 

 सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद वॉलीवुड इंड्रस्ट्री पर ऐसा असर पड़ा कि उसका देश के एक बड़े तबके ने विरोध करना शुरू कर दिया, धीरे-धीरे इसका असर ये हुआ कि कई फिल्मों का भी बायकाट तक देश में ट्रेंड करने लगा  जिसका असर सीधे तौर पर पूरी फिल्म इंड्रस्ट्री पर पड़ा था, कई फ़िल्में जो अच्छी कमाई कर सकती थी, उनका कलेक्शन उम्मीद से काफी कम रहा, जिसका असर पूरे  वालीवुड पर देखने को मिल रहा था ,ऐसा नहीं है इस बीच फ़िल्में नहीं चली पठान और आदिपुरुष जैसी फ़िल्में विवादों के बाद भी अच्छी कमाई करने में कामयाब रही. लेकिन जो गदर इस बार सनी देओल की गदर 2 ने मचाया है. उसने पुरे वालीवुड इंडस्ट्री में एक नई जान फूक दी है, कुछ सालों से बड़े बड़े मल्टीप्लेक्स में ही फिल्मों का क्रेज देखा जा रहा था, छोटे थियेटर मानों बंद होने के कगार पर आ गए थे, लेकिन गदर टू ने एक बार फिर लोगों में वो क्रेज बनाया है कि अब सुने पड़े छोटे-छोटे थियटरों में भी लम्बी-लम्बी लाइने लगी है।

सारे रिकॉर्ड तोड़ रही है फिल्म- 

 

इसकी सक्सेस को फिर भुनाता दिखाई दे रहा है.’गदर 2′ का क्रेज ऐसा है कि लोग इसे देखने ट्रैक्टर पर चढ़कर पहुंच रहे हैं. हिंदुस्तान जिंदाबाद के नारे सिनेमाघरों के अंदर लग रहे हैं,लोग इस फिल्म के गानों पर सिनेमा हाल के अंदर ही नाचते नजर आ रहे हैं, बड़े बड़े मल्टीफ्लेक्स के अलावा छोटे -छोटे सिनेमाघरों में उमड़ी भीड़ इस फिल्म को लेकर लोगों के क्रेज को दर्शा रही है,कई सालों बाद ऐसा क्रेज देखने को मिला है,ये फिल्म हो सकता है कमाई के मामले में आज शाहरुख़ की पठान को पीछे छोड़ दे लेकिन इसका क्रेज बता रहा है कि सनी देओल को लेकर लोगों में कितना क्रेज है खासकर उनके एंग्री और एक्शन रोल को लेकर।

पहले ही दिन 40 करोड़ की कमाई- 

 

हर दिन फिल्म की कमाई में भी इजाफा हो रहा है. जहां पहले दिन इस फिल्म ने 40 करोड़ का बिजनेस किया था. वहीं दूसरे दिन इस फिल्म ने 43 करोड़ की दमदार कमाई की. गदर 2 को लेकर फैंस का क्रेज इतना जबरदस्त है कि ‘गदर 2’ ने रिलीज के पहले तीन दिन में ही 135.18 करोड़ रुपये की शानदार कमाई करते हुए न सिर्फ सनी देओल का करियर पटरी पर ला दिया है. बल्कि इस फ्रेंचाइजी की तीसरी फिल्म ‘गदर 3’ का रास्ता भी मजबूत कर दिया है। फिल्म का कलेक्शन स्वतंत्रता दिवस यानी 15 अगस्त की छुट्टी के दिन नई ऊंचाइयां छूने की पूरी उम्मीद है।

OMG-2 को कड़ी टक्कर-

 

दिलचस्प बात ये है कि यदि ये प्रीडिक्शन सही साबित होता है तो ‘गदर 2’ शाहरुख खान स्टारर इस साल की सबसे बड़ी बॉलीवुड फिल्म ‘पठान’ को भी तीसरे दिन के कलेक्शन में पीछे छोड़ सकती है. आपको बता दें, पठान ने रिलीज के तीसरे दिन 39.25 करोड़ रुपए की कमाई की थी. तारा सिंह बनकर लौटे सनी देओल अक्षय कुमार स्टारर फिल्म ओएमजी 2 को कड़ी टक्कर दे रहे हैं. जहां गदर 2 का बॉक्स ऑफिस ग्राफ बढ़ता ही जा रहा है. वहीं ये फिल्म बॉक्स ऑफिस आंकड़ों में ओएमजी 2 को लगातार पछाड़ती नजर आ रही है। 

फिल्म जगत में एक नई उम्मीद- 

 

बॉक्स ऑफिस पर फिल्म का सूखा खत्म हो रहा है. कोरोना के बाद यानी 2022 में दर्शकों ने एक तरह से सिनेमाघरों  और बॉलीवुड फिल्म से मुंह मोड़ लिया था, लेकिन 2023 बॉलीवुड के लिए अच्छा साबित हो रहा है. उत्तराखंड के भी बड़े से लेकर छोटे सिनेमाघरों में इस फिल्म को देखने भारी भीड़ उमड़ रही है,,सड़कों में जाम लग रहा है,,रुड़की में हरिद्वार हाईवे किनारे स्थित सिनेमाघर  में बड़ी संख्या में लोग ‘गदर-2’ को देखने के लिए सिनेमा हाल का रुख कर रहे हैं। सिनेमा हाल पर टिकट के लिए मारामारी मची है। पहले से ही लोगों ने आनलाइन टिकट बुकिंग कर रखी है, जिसके चलते खिड़की पर टिकट नहीं मिल रहे हैं। यही हाल देहरादून के सिनेमाघरों में हैं,जहां बड़े- बड़े मल्टीफ्लेक्स से लेकर छोटे-छोटे सिनेमाघरों में भी भारी भीड़ देखने को मिल रही  है. अब देखना होगा कि आने वाले दिनों में ये फिल्म और कौन से रिकार्ड तोड़ती है, बहरहाल इस फिल्म ने एक बार फिर सिनेमाघरों का सूखा तोडा है साथ ही फिल्म जगत में  एक नई उम्मीद पैदा की है।